Difference between national park -sancturay

भारत के कीटभक्षी पौधे: ड्रोसेरा, पिचर प्लांट, यूट्रीकुलरिया (Insectivorous Plants of India: Drosera, Pitcher Plant, Utricularia)

कीटभक्षी पौधे (Insectivorous Plants) : ये पौधे कीड़ों को फँसाने में विशिष्ट हैं और लोकप्रिय रूप से कीटभक्षी पौधों के रूप में जाने जाते हैं। वे अपने पोषण के तरीके में सामान्य पौधों से बहुत अलग हैं। हालाँकि, वे कभी भी मनुष्यों या बड़े जानवरों का शिकार नहीं करते हैं। कीटभक्षी पौधों को उनके शिकार को फंसाने की विधि के आधार पर सक्रिय और निष्क्रिय प्रकारों में विभाजित किया जा सकता है। जैसे ही कीट उन पर उतरते हैं, सक्रिय लोग अपने पत्तों के जाल को बंद कर सकते हैं। निष्क्रिय पौधों में एक ‘नुकसान’ तंत्र (Pitfall Mechanism) होता है, जिसमें किसी प्रकार का जार या घड़े जैसी संरचना होती है जिसमें कीट फिसल कर गिर जाता है, अंततः पच जाता है

अक्षय ऊर्जा दिवस : 20 अगस्त

अक्षय ऊर्जा दिवस (नवीकरणीय ऊर्जा दिवस) हर साल 20 अगस्त को भारत में अक्षय ऊर्जा के विकास और अपनाने के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है। अक्षय … Read More

इकोटोन – परिभाषा, विशेषताएं और महत्व

इकोटोन एक ऐसा क्षेत्र है जो दो पारिस्थितिक तंत्रों के बीच एक सीमा या संक्रमण के रूप में कार्य करता है। एक सामान्य उदाहरण एक नदी और उसके नदी तट … Read More

हरित राजनीतिक सिद्धांत/ पारिस्थितिकीवाद (Ecologism) 360 डीग्री कवरेज

X
%d bloggers like this: