एनएफटी (NFT) क्या है?

नॉन फंजिबल टोकन (NFT) एक यूनिक टोकन होता है, जो डिजिटल वैल्यू को जनरेट करते है। यह किसी भी फॉर्म (मूवी, डीवीडी, टीवी सीरीज) में मिल सकते है इसका हर टोकन अपने आप में Unique होता है। जिसकी एक मात्र कॉपी आपके पास होती है और किसी के पास नही और उसे आप अपनी कीमत पर बेच सकते है।

 एनएफटी का अर्थ होता है नॉन-फंजिबल टोकन (Non Fungible Token). यह एक तरह की डि‍जिटल असेट यानी संपत्‍त‍ि है। इसे ब्लॉकचेन तकनीक के जरिए संभाला जाता है। इस तकनीक की मदद से जीआईएफ, तस्वीरें, वीडियो क्‍लि‍प्‍स, कोई पेंटिंग और अन्य कीमती डिजिटल संपत्तियों का मालिकाना हक तय होता है।

मतलब ऐसा कोई आर्टवर्क या दूसरी चीज जिसकी एक कॉपी हो उसे NFT करके डिजिटल टोकन जारी किया जाता है जिससे लोग पैसे कमाते है।

समय जैसे जैसे आगे बढ़ रहा है दुनिया में पैसा कमाने की नई नई तकनीकी का विकास हो रहा है। Cryptocurrency की सफलता के बाद इसी क्रम में NFT (Non – Fungible Token) का विकास हुआ।  लोग इन चीजों को छू नहीं सकते बस digital space में देख सकते है।

NFT इस generation की नई खोज है । NFT कितना powerful है इसका अंदाजा लगाया जा सकता है की Beeple की एक डिजिटल आर्ट NFT के रूप में $69 Million में बिकी जो की दुनिया की सबसे ज्यादा महंगे में बिकने वाली NFT है।

विशेषताये:-

यह Non Fungible होने के कारण इनकी एक unique पहचान होती है और इनको किसी चीज या वस्तु के बदले में बदला नहीं जा सकता.

हर एक NFT की दुसरे NFT से अलग पहचान होती है और वो बाकियों से सबसे अलग होती है. उदहारण के लिए Mona Lisa ki photo जो की सबसे कीमती और अनोखे चित्र में से एक है जिसको किसी item के बदले में नहीं बदला जा सकता. सबसे खास बात है की NFT को न ही Cryto की तरह टुकड़ों में बाट सकते है और न ही इसे स्पर्श कर सकते है।

महत्वपूर्ण बात ये है की किसी NFT का एक बार में कोई एक ही मालिक हो सकता है कोई भी उसकी तस्वीर लेकर या internet से उसकी तस्वीर को download करके उसको बेच नहीं सकता क्योंकी NFT ब्लॉकचेन पर चलती है और ब्लॉकचेन पर ही उनकी जानकारी store होती है जो किसी NFT का मालिक होता है उसकी सारी जानकारी उस ब्लॉकचेन में रखी (Store) हुई होती है.

NFT की खरीद और विक्री हेतु एक क्रिप्टोकरेंसी वॉलेट और एक एनएफटी मार्केटप्लेस की आवश्यकता होती है।

  • OpenSea.io, Rarible, Foundation कुछ एनएफटी मार्केटप्लेस हैं.

NFT कैसे काम करता है?

  • नॉन फंजिबल टोकन (NFT) एक कमाई और इन्वेस्टमेंट का अच्छा तरीका हो सकता है।
  • एनएफटी उदाहरण (NFT Example):- जैसे आपने और आपके दोस्त ने 2 भाले खरीदे और दोनो की कीमत समान है। तो आप उन भालो को आपस में बदल सकते है लेकिन उनमें से एक भाला नीरज चौपड़ा का है। तो क्या आप उन भालो को बदल सकते है नही ना।
  • तो अब समझते है एनएफटी को जैसे हनी सिंह का कोई गाना अभी रिलीज नहीं हुआ है और वो एक ही है उसे आप NFT के माध्यम से खरीदकर रख लें। और उसकी एक ही कॉपी है और वो है आपके पास तो भविष्य में आप उसे ज्यादा कीमत पर बेच सकते है। इस तरह आप अपने पैसे को NFT में Investment कर सकते है।

NFT का उपयोग

  • एनएफटी का उपयोग डिजिटल दुनिया में एकदम अलग चीजों को खरीदने और बेचने के लिए किया जाता है।
  • जैसे आप ऑडियो, वीडियो और पेंटिंग NFT के माध्यम से खरीद सकते है।

NFT और Crypto Currency में क्या संबंध है?

  • वैसे तो एनएफट और क्रिप्टो करेंसी दोनो ही बिलकुल अलग चीजे है लेकिन इनमे एक समानता है को लोगो को दोनो मे संबंध बताती है वो है blockchain Technology दोनो ही डिजिटल वैल्यू ब्लॉकचेन पर बनाई गई है। ब्लॉकचेन पर आधारित NFTs और क्रिप्टोकरेंसी दोनों एक दूसरे से अलग हैं।
  •  क्रिप्टोकरेंसी एक परिवर्तनीय मुद्रा है, जिसका अर्थ है कि यह विनिमय करने योग्य है।  उदाहरण के लिये यदि आप एक क्रिप्टो टोकन रखते हैं, तो उसे एक एथेरियम कहेंगे, आपके द्वारा धारित अगला एथेरियम भी उसी मूल्य का होगा।
  • हालाँकि NFTs अपूरणीय हैं जिसका अर्थ है कि एक NFTs का मूल्य दूसरे के बराबर नहीं होता है। अपूरणीय का अर्थ है कि NFTs परस्पर विनिमेय नहीं हैं। हर कला दूसरों से अलग होती है, जो इसे अपूरणीय और अद्वितीय बनाती है।

NFTs की खरीद से जुड़े ज़ोखिम:

  • धोखाधड़ी का जोखिम: हाल के दिनों में NFT घोटालों की कई घटनाएँ सामने आई हैं जिनमें नकली बाज़ारों का उदय, असत्यापित विक्रेता अक्सर वास्तविक कलाकारों का प्रतिरूपण करते हैं और उनकी कलाकृतियों की प्रतियाँ आधी कीमत पर बेचते हैं।
  • पर्यावरणीय जोखिम: लेन-देन को मान्यता प्रदान करने हेतु क्रिप्टो माइनिंग किया जाता है, जिसके लिये उच्च क्षमता वाले कंप्यूटर की आवश्यकता होती है जो अति उच्च क्षमता पर चलते हैं और अंततः पर्यावरण को प्रभावित करते हैं।
  • हाल ही में एक रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2021 में अपूरणीय टोकन/नॉन-फंजिबल टोकन (Non-Fungible Tokens- NFTs) की बिक्री 25 बिलियन अमेरिकी डॉलर तक बढ़ी क्योंकि क्रिप्टो संपत्ति की लोकप्रियता में काफी वृद्धि हुई। हालांँकि कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि एनएफटी में हुई वृद्धि क्षणिक है जिसकी विक्री में कभी भी गिरावट देखने को मिल सकती है।

क्या भारत में NFT बैन है?

नही भारत में अभी तक ऐसा कोई नियम नहीं है । लेकिन मनी लन्द्रिंग व हवाला मे भी इसका प्रयोग देखा जा रहा हे। नकली एनएफ़टी के मामले भी सामने आए हे । इस पर कुछ प्रतिबंध या विनियम लग सकने की संभावना काफी हैं ।

NFT Examples -Artwork

What you say about this

X
%d bloggers like this: