पुतिन विरोधी नवलनी को ईयू सम्मान

एडवोकेट  से एक्टिविस्ट बने एलेक्से ई  नवलनी 2008 में चर्चा में आए थे, जब उन्होंने एक ब्लॉग के जरिए रूस की राजनीति में भ्रष्टाचार को उजागर करना शुरू किया। 2018 में उन्हें पुतिन के विरोध में चुनाव लड़ने से रोक दिया गया।

फरवरी 2021 से जेल में बंद राजनीतिक एलेक्सेई नवलनी यूरोपीय संसद के शीर्ष सम्मान सखारोव पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। 50 हजार यूरो की राशि देती है यूरोपीय संसद सखारोव सम्मान के लिए। यह मानवाधिकार कार्य के यूरोपीय संघ द्वारा दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान  है

एलेक्सेई लवलनी को राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का धुर आलोचक माना जाता है। सरकार विरोधी प्रदर्शन के लिए उन्हें कई बार सम्मानित किया जा चुका है। 2020 में उन्हें जहर दिया गया था, लेकिन वे बच गए। आरोप है की सरकारी अधिकारियों ने ऐसा किया, जबकि वे इसे नकारते आए हैं।

 नवलनी ने 2011 में रोधी एनजीओ एफबीके की स्थापना की। सरकारी भ्रष्टाचार के सफाए के लिए कार्यरत इस एनजीओ के यूटयूब पर 60 लाख सस्क्राइबर हैं। चैनल पर पुतिन केंद्रित दो वृतचित्र चर्चा में रहे। एक ‘ही इज नॉट डीमन टु ‘  और दूसरा, ‘पुतिंस पैलेस’।

रूसी अधिकारियों ने नवलनी को इस साल जनवरी में जर्मनी से लौटने पर मॉस्को एयरपोर्ट पर गिरफ्तार कर लिया। इससे पहले उन्हें अगस्त 2020 में जहर दिया गया था। अगस्त 2020 में वे बीमार पड़ गए थे। बहुत मुश्किल से उनकी जान बच पाई।

अमेरिका और यूरोपीय देश तब से  उनकी रिहाई की मांग कर रहें हैं। उनका प्लेन लैंड करने के बाद से ही उन्हें अस्पताल ले जाया गया। गौरतलब है की जांच में पाया गया था की नवलनी को सोवियत कालीन मस्तिष्क तांत्रिक संबंधी रसायिक एजेंट नोविचाक दिया गया था। माना जाता है की यही जहर यूके में 2018 में रूसी जासूस सर्जेई स्क्रिपल और उसकी बेटी को मरने के लिए दिया गया था।

रूस में नवलनी को विपक्ष का चेहरा माना जाता है।

सखारोव सम्मान ?

सखारोव सम्मान मानवाधिकार कार्य के लिए यूरोपीय यूनियन द्वारा दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान है।

  • पहला सखारोव सम्मान दक्षिण अफ्रीकी नेता नेल्सन मंडेला और सोवियत असंतुष्ट लेखक अनातोली टी. मार्खेनको को 1988 में दिया गया। मंडेला ने जेल में 27 और मार्खेनको ने 20 साल गुजारे थे
  • यह पुरस्कार खास तौर पर राजनीतिक लेखकों , पत्रकारों, वकीलों, लेखकों, आतंकरोधी गुटों और सिद्धांतों की खातिर सजा काट रहे कैदियों को दिया जाता है।
  •  ईरानी फिल्म निर्माता जफर पनाही, मलाला यूसुफजई, डेमोक्रेटिक अपोजिशन ऑफ वेनेजुएला और चीन के उईगर मुसलमानों के वकील इल्हम तोहती को यह पुरस्कार मिल चुका है।

What you say about this

X
%d bloggers like this: