बिरसा किसान योजना (Birsa Kisan Yojana)

उद्देश्य (Objectives)

  • फर्जी किसानों की पहचान करना
  • पात्र किसानों तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाना
  • बिचौलिए को खत्म करना

कृषि विभाग जुटा रही है किसानों का डाटा

  • सरकार बिरसा किसान योजना (Birsa Kisan Yojana) में कम से कम 58 लाख किसानों को शामिल करेंगी। इन सब किसानों की पहचान बिरसा किसान के तौर पर की जाएगी।
  • इस योजना के तहत किसानों को एक यूनिक आईडी के साथ पंजीकृत किया जाएगा, जिसमें आधार कार्ड, मोबाइल और बचत खाता संख्या (डीबीटी के लिए) अनिवार्य होंगे।
  • किसानों का प्रज्ञा केंद्रों में ई-केवाईसी भी किया जाएगा।
  • इस योजना में किसानों का आधार नंबर की तरह ही यूनिक आईडी मिलेगा। किसानों के लिए जारी होने वाले विशिष्ट आईडी कार्ड में एक बारकोड होगा। इसका उपयोग किसानों की पहचान के रूप में भी किया जा सकेगा।
  • इस यूनिक आईडी का उपयोग विभिन्न योजनाओं जैसे, बीज, कृषि उपकरण, अनुदान आदि में किया जा सकेगा।

किसानों को सीधे मिलेगा लाभ

  • इस आईडी से सरकार को सीधे बैंक के माध्यम से अनुदान और अन्य लाभों को देने में सुविधा होगी।
  • किसानों को योजना का लाभ देने से पूर्व जिला कृषि अधिकारी द्वारा जांच की जाएगी कि किसान को वर्तमान या पिछले वर्षों में योजनाओं का लाभ प्राप्त हुआ है या नहीं
  • इस प्रकार एक डेटाबेस किसानों का बनाया जाएगा।
  • बार कोड (यूनिक आईडी) होने से किसान की पहचान होगी। जिससे उन्हें बीज, कृषि उपकरण इत्यादि आसानी से मिल जाएंगे।

बिरसा किसान योजना (Birsa Kisan Yojana) के लिए जरूरी दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • बैंक पास बुक
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • खेत की जानकारी (किसान बही)

What you say about this

X
%d bloggers like this: