पुलितजर पुरस्कार (12.06.21)

शुक्र ग्रह के लिए एनविजन मिशन

  • यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी (ईएसए)  पृथ्वी के निकटतम पड़ोसी शुक्र ग्रह के लिए  एनविज़न मिशन (EnVision) की घोषणा की है  जिसे 2030 के दशक में लांच किया जायेगा। उल्लेखनीय है की हाल ही में नासा ने भी शुक्र ग्रह के लिए दो मिशन DAVINCI+ और VERITAS की घोषणा की थी।
  • एनविजन मिशन यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी के नेतृत्व वाला मिशन है जिसमें NASA का योगदान भी शामिल है। इसे 2030 के दशक में किसी समय लॉन्च किए जाने की संभावना है।
  • एक बार एरियन 6 रॉकेट पर लॉन्च होने के बाद, अंतरिक्ष यान को शुक्र तक पहुंचने में लगभग 15 महीने का समय लगेगा और कक्षा की परिक्रमा हासिल करने में 16 महीने और लगेंगे।
  • अंतरिक्ष यान शुक्र ग्रह के वायुमंडल और सतह का अध्ययन करने, वातावरण में ट्रेस गैसों की निगरानी और इसकी सतह संरचना का विश्लेषण करने के लिए कई प्रकार के उपकरणों को साथले जाएगा।

47वीं G-7 की बैठक

  • ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के निमंत्रण पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी 12 और 13 जून को वर्चुअल प्रारूप में जी7 के शिखर सम्मेलन के आउटरीच सत्रों में भाग लिया । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने वर्चुअल सम्बोधन में वन अर्थ-वन हेल्थ का नारा दिया। 
  • यह दूसरी बार है जब प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने जी-7 की बैठक में भाग लिया। भारत को वर्ष 2019 में जी7 की फ्रांसीसी अध्‍यक्षता द्वारा बियारिट्ज शिखर सम्मेलन में ‘सद्भावना साझेदार’ के रूप में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया था। 
  • 47वीं G-7 की बैठक जून माह में इंग्लैंड के कॉर्नवेल में आयोजित हुई। 

पुलित्जर पुरस्कार 2021

  • मिनियापोलिस स्टार ट्रिब्यून (Minneapolis Star Tribune) ने पुलिस के हाथों जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd) की हत्या के कवरेज के लिए ब्रेकिंग न्यूज रिपोर्टिंग के लिए पुलित्जर पुरस्कार 2021 जीता है।  वहीं रॉयटर्स और अटलांटिक ने व्याख्यात्मक रिपोर्टिंग के लिए पुरस्कार साझा किया।
  • एसोसिएटेड प्रेस फोटोग्राफरों सहित कई विजेताओं को कोविड महामारी के कवरेज के लिए और फ़्लॉइड की मृत्यु के बाद विरोध प्रदर्शन पर रिपोर्टिंग के लिए प्रशंषा की गई थी।
  • पुलित्जर पुरस्कार बोर्ड ने अपने फोन पर फ्लॉयड की हत्या का वीडियो रिकॉर्ड करने वाली किशोरी डर्नेला फ्रैजियर को “विशेष प्रशस्ति पत्र” भी प्रदान किया।
  • भारतीय मूल की पत्रकार मेघा राजगोपालन (Megha Rajagopalan) ने  चीन के सामूहिक नजरबंदी शिविरों (China’s mass detention camps) पर अंतर्राष्ट्रीय खोजी रिपोर्टिंग के लिए वर्ष  2021 का पुलित्जर पुरस्कार जीता है।

आई-एसटीईएम (I-STEM)  पहल

  • देश में पहली बार, आई-एसटीईएम (I-STEM) पोर्टल के माध्यम से भारत में शैक्षणिक उपयोगकर्ता अब कॉमसॉल मल्टीफिजिक्स (COMSOL Multiphysics) सॉफ्टवेयर सूट को बिना किसी खर्च के हासिल कर सकेंगे।
  • भारत में कहीं से भी उपयोगकर्ता के अनुकूल पहुंच प्रदान करने के लिए सुइट को क्लाउड सर्वर पर होस्ट किया गया है।
  • आई-एसटीईए पीएम-एसटीआईएसी मिशन के तहत भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार के कार्यालय (Principal Scientific Adviser to the Govt. of India under the PM-STIAC mission) की एक पहल है।
  • इसका लक्ष्य शोधकर्ताओं को संसाधनों से जोड़कर, आंशिक रूप से प्रौद्योगिकियों और वैज्ञानिक उपकरण विकास को स्वदेशी रूप से बढ़ावा देना है।

उच्च शिक्षा पर एआईएसएचई 2019-20 (AISHE) रिपोर्ट

  • केंद्रीय शिक्षा मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने 10 जून 2021 उच्च शिक्षा पर अखिल भारतीय सर्वेक्षण रिपोर्ट 2019-20 (AISHE) को जारी किया जो देश में उच्च शिक्षा की वर्तमान स्थिति पर प्रमुख प्रदर्शन संकेतक प्रदान करती है।
  • रिपोर्ट के अनुसार उच्च शिक्षा में कुल नामांकन (Total Enrolment) 2019-20 में 3.85 करोड़ रहा है। 2018-19 में यह 3.74 करोड़ था। इसमें 11.36 लाख (3.04 प्रतिशत) की बढ़ोतरी दर्ज की गई। 2014-15 में कुल नामांकन 3.42 करोड़ रहा था।
  • सकल नामांकन दर (Gross Enrolment Ratio: GER), 2019-20 मेंउच्च शिक्षा में नामांकित पात्र आयु वर्गों के छात्रों का प्रतिशत 27.1 प्रतिशत था। 2018-19 में यह 26.3 प्रतिशत और 2014-15 में 24.3 प्रतिशत था।
  • उच्च शिक्षा में लैंगिक समानता सूचकांक (Gender Parity Index: GPI) 2018-19 में 1.00 के मुकाबले 2019-20 में 1.01 रहा। 2019-20 में उच्च शिक्षा में छात्र शिक्षक अनुपात (Pupil Teacher Ratio) 26 है।

के. नागराज नायडू-संयुक्त राष्ट्र महासभा में शेफ डी कैबिनेट नियुक्त

  • भारतीय विदेश सेवा (IFS) के अधिकारी के. नागराज नायडू को संयुक्त राष्ट्र महासभा के भावी अध्यक्ष, मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद ने अपने एक साल के कार्यकाल की अवधि के लिए शेफ डी कैबिनेट (chef de cabinet) नामित किया है।
  • नायडू संयुक्त राष्ट्र में भारत के उप स्थायी प्रतिनिधि हैं, और वह भारत सरकार की ओर से संयुक्त राष्ट्र के लिए लोन पर होंगे जो कि भारतीय प्रधान मंत्री के प्रधान सचिव के बराबर का पद है, साथ ही उनका ओहदा अमेरिकी राष्ट्रपति के चीफ ऑफ स्टाफ की तरह है।
  • नायडू संभवत: इस पद पर नामित होने वाले पहले भारतीय राजनयिक हैं, और इस तरह, उनकी नियुक्ति विश्व निकाय में भारत के बढ़ते प्रभाव का प्रमाण है।

What you say about this

X
%d bloggers like this: